जीरा

Herbs
  स्‍वास्‍थ्‍य के‍ लिए बहुत फायदेमंद होता है जीरा जीरा शरीर के सभी अंगों के लिए बहुत फायदेमंद है। अगर आप रोज जीरे के कुछ दानें अपनी डाइट में शामिल कर लेते हैं तो कई फायदे आपको मिलेंगे। परेशानी चाहे कैसी भी हो, जीरा तुरंत ही अपना असर दिखाता है। रोजाना 10 दिन तक इसे खाने से कई फायदे मिलते हैं। इनके असर भी तुरन्त दिखने लगता है। देश में मसालों के इस्तेमाल का अलग ही महत्व है। मसाले न सिर्फ स्वाद बढ़ाने का काम करते हैं बल्कि स्वास्थ्य के लिए भी बेजोड़ होते हैं। खाने में कई पकवान तो इन मसालों के नाम पर ही जाने जाते हैं जैसे ज्यादातर पसंद किया जाने वाला जीरा राइस। सही समझे आप, जीरे में कई तरह के गुण छुपे हुए हैं जिनसे…
Read More

अगर की लकड़ी 

Herbs
अगर की लकड़ी  : अगर की लकड़ी, जिसे ऊद, ऊध या अगर के नाम से भी जाना जाता है, एक गहरे रंग का चमकीला ह्रदय होता है, जो एक्विलेरिया और गाइरिनॉप्स के पेड़ों (दक्षिण-पूर्व एशिया में बड़े सदाबहार मूल) में बनता है, जब वे एक प्रकार के साँचे से संक्रमित हो जाते हैं। संक्रमण से पहले, हार्टवुड अपेक्षाकृत हल्के और हल्के रंग का होता है; हालांकि, जैसे-जैसे संक्रमण बढ़ता है, पेड़ हमले के जवाब में एक गहरे सुगंधित राल का उत्पादन करता है, जिसके परिणामस्वरूप बहुत घना, अंधेरा, राल एम्बेडेड हर्टवुड होता है। राल एम्बेडेड लकड़ी को आमतौर पर गहरु, जिंको, अलॉयवुड, अगर-वुड या ऊद ('बखूर' के साथ भ्रमित नहीं किया जाता है) कहा जाता है और इसकी विशिष्ट खुशबू के लिए कई संस्कृतियों में मूल्यवान है, और इस तरह…
Read More

तुलसी

Herbs
              तुलसी एक आयुर्वेदिक औषदी है :- तुलसी न केवल धार्मिक महत्‍व रखती है, बल्कि इसके कई स्‍वास्‍थ्‍य लाभ भी हैं। कई वैज्ञानिक शोध तुलसी में उपस्थित गुणों की पुष्टि करते हैं। भारत में पुरातन काल से ही तुलसी के औषधीय गुणों को काफी महत्ता दी जाती है। आइए जानें ऐसे ही कुछ गुणों के बारे में जो हमारे स्‍वास्‍थ्‍य के लिए लाभप्रद है। तुलसी का सेवन करने से होने वाले फायदे :- खांसी करे उड़न-छू :  तुलसी की पत्तियां कफ साफ करने में मदद करती हैं। तुलसी की कोमल पत्तियों को अदरक के साथ चबाने से खांसी-जुकाम से राहत मिलती है। तुलसी को चाय की पत्तियों के साथ उबालकर पीने से गले की खराश दूर हो जाती है। त्वचा निखारे, रूप संवारे :…
Read More

Aloe Vera

Herbs
  Aloes(ਕਵਾਰ /कुमारी ) ਇੱਕ ਬਾਰਦੋਈ ਔਸ਼ਧ ਹੁੰਦੀ ਹੈ, ਜਿਸ ਦੇ ਪੱਤੇ ਦੇ ਨਾਲ ਲਗਭਗ 2-4 ਫੁੱਟ ਦੀ ਉਚਾਈ ਤੇ ਇੱਕ ਸਿੰਗ ਹੁੰਦਾ ਹੈ । ਇਹ ਸਾਰੇ ਦੇਸ਼ ਵਿੱਚ ਆਮ ਹੁੰਦਾ ਹੈ ਅਤੇ ਦੁਨੀਆ ਦੇ ਕਈ ਹੋਰ ਹਿੱਸਿਆਂ ਵਿੱਚ ਵੀ ਮਿਲਦਾ ਹੈ।ਪੱਤਿਆਂ ਨੂੰ ਖਾਸ ਤੌਰ ਤੇ ਵੱਖ-ਵੱਖ ਉਪਯੋਗਾਂ ਲਈ ਕਾਸਮੈਟਿਕ ਦੀ ਤਿਆਰੀ ਲਈ ਵਰਤਿਆ ਜਾਂਦਾ ਹੈ  ਕਵਾਰ ਦੀ ਵਰਤੋਂ : ਇਸ ਦੀ ਵਰਤੋਂ ਨੂੰ ਆਯੁਰਵੈਦ ਵਿਚ ਇੱਕ ਚਮੜੀ ਦੇ ਕੰਡੀਸ਼ਨਰ ਦੇ ਤੌਰ ਤੇ ਅਤੇ ਗੈਰ-ਤੰਦਰੁਸਤ ਫੋੜੇ ਦੇ ਇਲਾਜ, ਜ਼ਖ਼ਮ ਦੀਆਂ ਸੱਟਾਂ ਅਤੇ ਜਿਗਰ ਦੀਆਂ ਬਿਮਾਰੀਆਂ ਜਿਵੇਂ ਪੀਲੀਆ ਆਦਿ ਦੇ ਇਲਾਜ ਵਿੱਚ ਲਿਆ ਗਿਆ ਹੈ। ਕਵਾਰ 'ਤੇ ਪ੍ਰਯੋਗਾਤਮਕ ਅਧਿਐਨਾਂ ਨੇ ਇਸਦੇ ਸਕਾਰਾਤਮਕ ਕਾਸਮੈਟ ਵੈਲਯੂ ਅਤੇ ਜ਼ਖ਼ਮ ਭਰਨ ਦੇ ਗੁਣਾਂ ਦਾ ਸੁਝਾਅ ਦਿੱਤਾ ਹੈ। ਇਹ ਵੀ ਦੇਖਿਆ ਗਿਆ ਹੈ ਕਿ ਕਵਾਰ ਦੀ ਅੰਦਰੂਨੀ ਵਰਤੋਂ ਪ੍ਰਯੋਗਾਤਮਕ ਜਾਨਵਰਾਂ ਵਿੱਚ ਸਕਾਰਾਤਮਕ ਪ੍ਰਤੀਰੋਧਕ ਪ੍ਰਤੀਕ੍ਰਿਆ ਜ਼ਾਹਰ ਕਰਦੀ…
Read More