खुशी और आनंद में अंतर, तनाव से मुक्ति

खुशी और आनंद में अंतर, तनाव से मुक्ति

Motivation
Yogachrya shivender kumar Radha yoga and herbs, Saintsam, खुशी और आनंद में अंतर , आनंद को अपने भीतर पैदा करें दो शब्द जो एक दूसरे के पर्याय में देखो जाते हैं लेकिन वास्तव में इन में बहुत बड़ा अंतर है इसे हम एक प्रयोग से देखते हैं कि कैसे होता है। आप किसी व्यक्ति में खुशी बाँट के देखो आपको एक अलग तरह की खुशी का अनुभव होगा . जो सुख किसी को सुख बांटने में मिला वह आनंद है। मिश्र में एक दंतकथा है। जब कोई व्यक्ति स्वर्ग में प्रवेश चाहता है तो उससे दो प्रश्न पूछे जाते हैं। पहला प्रश्न है खुशी और आनंद का अनुभव किया, दूसरा क्या अपने आस-पास के लोगों में सुख खुशी बांटी है। अगर आपका उत्तर हाँ में है तो आप का स्वर्ग में प्रवेश…
Read More

थायराइड एवम् योग

Health, Thyroid
Thyroid in Hindi, Natural thyroid treatment, थायराइड आजकल बहुत आम होती जा रही है।  पहले यह स्त्रियों में होने वाला रोग समझ जाता था।  आज कल पुरषों में ही नहीं अपितु शिशुओं में भी फ़ैल रहा है।  थायराइड एक मूक हत्यारे (silent killer )की तरह छुपा वार करता है।  हमारे शरीर के स्वस्थ रहने के लिए शरीर के सभी अंगो, ग्रंथियों आदि कासही तरह से काम करना जरुरी है| हमारे शरीर में पाये जाने वाली थायराइडग्रंथि का भी सुचारू रूप से कार्य करना जरुरी है| ये हमारे शरीर से दूषितरसायनो को बाहर निकालने में मदद करती है। इससे शरीर का कोलेस्‍ट्रॉललेवल नियंत्रित रहता है| यहाँ तक की यह ग्रंथि बच्चो के विकास में भीसहायक है| यह शरीर में कैल्शियम एवं फास्फोरस के पाचन में सहायताप्रदान करती है| दरहसल थायराइड मानव…
Read More

पीड़ा सृजन की जननी है, तनाव से मुक्ति, Be positive

Motivation
Yogacharya Shivenfer kumar @ Radha yoga and herbs, Saintsam बिना सूली चडे जिसुस नहीं बना जा सकता , बिन विषपान शिव नहीं हो सकता , बिना विषपान सुकरात, मीरा नहीं बन जा सकता . बिना त्याग बुध नहीं बना जा सकता. परीक्षा जरूरी है , बिना परीक्षा उतीर्ण नहीं हुआ जा सकता  Be positive तनाव से मुक्ति  पीड़ा सृजन की जननी है . बिना सूली चडे जिसुस नहीं बना जा सकता , बिन विषपान शिव नहीं हो सकता , बिना विषपान सुकरात, मीरा नहीं बन जा सकता . बिना त्याग बुध नहीं बना जा सकता. परीक्षा जरूरी है , बिना परीक्षा उतीर्ण नहीं हुआ जा सकता कष्ट सब के मार्ग में आते है; जो जितना ऊँचा है वोह उतना गहरा है ; गहरे जाना उपर उठने का मार्ग है पीछे खिसकना आगे…
Read More