PEARL CALCIUM, मोती-पिष्टी कैल्शियम, चूने के लाभ

PEARL CALCIUM, मोती-पिष्टी कैल्शियम, चूने के लाभ

Health, Remedies
[caption id="attachment_900" align="alignnone" width="638"] Pearl calcium नपुंसकता, गर्भ गिरना, जोड़ों के दर्द, फ्रोजेन शोल्डर, घुटनों के दर्द, गर्भ ना ठहरना, मंदमति पर लाभकारी है। [/caption] Pearl calcium, फ्रोजेन शोल्डर, जोड़ों के दर्द के लिए   calcium in Hindi आज कल व्हाट्सप्प ने सारी दुनिया को डॉक्टर बना दिया है। जो लाभ की उपेक्षा हानि अधिक कर रहा है। हर जगह चुने के लेकर दुनिया डॉक्टर बन बैठी है।  पर चुने का प्रयोग कैसे करना है हर कोई नहीं जानता।  हम यहाँ आज पुराणी भारतीय पद्धिति से परचित करवाते हैं। चूना खाने को है किसी को चूना लगाने को नहीं “हमारी यह  PEARL CALCIUM कैल्शियम की दवा स्त्री दही के साथ व पुरुष दूध के साथ सेवन करे”.  प्रकृतिi में मिलने वाला चुना एक अत्यंत महत्वपूर्ण औषधि का काम करता है।  आये…
Read More

SEXUAL BENEFITS OF ROSE

Health, Remedies
SEXUAL BENEFITS OF ROSE Saintsam, Radha yoga and herbs Do you know rose not only increases sex, vitality and vigor of human? It also helps to reduce weight and make body naturally perfumed and sexy Read how Have you ever wondered that a rose flower can actually shower you with numerous health benefits that you ever thought of? This flower exerts a positive effect on your body, mind and skin and has been used since ancient times. Apart from being a well-known beauty ingredient, you can use rose petals to spice up your sexual life, combat stress and lose weight naturally. Yes, it’s true, here’s how you can reap its wonderful health and beauty benefits. People around the world enjoy flowers in their food. Asian cuisine, for instance, relies on…
Read More

मीठा भगाए मोटापा : with herbal Therapy

Health, Remedies
मीठा भगाए मोटापा : with herbal Therapy Benefits of Jaggery, Sweet Reduce Fat मीठा भगाए मोटापा   गुड़ में कैल्शियम , मैग्नीशियम, आयरन, पोटैशियम, फास्फोरस, सोडियम होतें हैं।  यह स्वभाव में गर्म होता है। गुड़ न केवल बहुत से रोग ठीक करता है बल्कि मोटापा भी काम कर सकता है। गुड में इसबगोल और अजवाइन अदि डाल विधिपूर्वक तैयार किया जाता है यह मोटपा दूर करने के भी काम आ सकता है। गुड़ के लाभ (मीठा भगाए मोटापा : with herbal Therapy) Radha yoga and herbs १- भारत में कई वनवासियों में वजन काम करने के लिए गुड़ का  प्रयोग किया जाता रहा है।  इसबगोल सोंठ, अजवाइन आदि से बना गुड़ वजन काम करता है।  यह शरीर में जल के अवधारण को काम कर मोटापा कम करता है।  गुड़ की प्रकृति…
Read More

लहसुन के औषधीय फायदे

Health, Remedies
  Garlic in Hindi, लहसुन के औषधीय फायदे saintsam लहसुन केवल खाने के स्वाद को नहीं बढ़ाता बल्कि ५००० साल पहले से ही यह उपचार में भी उपयोग में लिया जा रहा है। रोजाना लहसुन की एक कली को खाने से शरीर को विटामिन ए, बी और सी के साथ आयोडीन, आयरन, पोटेशियम, कैल्शियम और मैग्नीशियम जैसे कई पोषक तत्व एक साथ मिल जाते है। ३लहसुन का तेल हाथ पैरो में लगाने से भी मच्छर पास नहीं आते है और त्वचा भी मुलायम रहती है। लहसुन में एंटीबैक्टिरियल तत्व होते है, अतः पिंपल पर लहसुन की स्लाइस को लेकर उस पर लगाने से पिंपल जल्दी बैठ जाते है। 4  लहसुन के नियमित सेवन से भी स्किन के संक्रमण में भी फ़ायदा होता है। 5. लहसुन शरीर में इन्सुलिन की मात्रा को…
Read More

नाभि से जानिए कितना धन और सुख है

Remedies, Uncategorized
नाभि से जानिए कितना धन और सुख है आपके भाग्य में, saintsam, radha yoga and herbs अगर हाथों की लकीरों में भगवान धन और सुख लिखना भूल गये हैं तो मायूस होने की जरूरत नहीं। हो सकता है कि आपके भाग्य का सुख कहीं और लिखा हो। यह आपके होठों, आंखों अथवा पेट के बीच में स्थित नाभि पर भी लिखा हो सकता है। नाभि मनुष्य के शरीर का केन्द्र स्थान है। यहीं से शरीर का निर्माण होता है सभी अंग विकसित होते हैं। इसलिए नाभि की बनावट पर गौर करने पर आप जान सकते हैं कि आपके भाग्य में क्या लिखा है।समुद्रशास्त्र के अनुसार जिन लोगों की नाभि फैली हुई, गहरी और गोल होती है वह बड़े ही भाग्यवान होते हैं। ऐसे लोगों के घर में लक्ष्मी सदैव निवास…
Read More

Treat Constipation Naturally

Health, Remedies
According to Ayurveda theory one should have daily his/hsr bowl clear. there is saying in yoga “once a day is yogi, twice a day bhogi (pleasure- loving), again and again a patient.” And if not constipated. Bowl clearance varies from person to person. Some people have bowel movements three times a day. Others have them only once or twice a week. Being constipated means your bowel movements are difficult or happen less often than normal. Almost everyone has it at some point in life, and it's usually not serious. Still, you'll feel much better when your system is back on track. My recommendation is better treat yourself don't depend upon doctor. Here are my recommendation; Best way is yoga if one is chronic do Laghu shankhprakshalan water therapy Natural remedies…
Read More

WINE is like nectar for that who drinks according to prescribed method, in proper quantity, in proper time, with wholesome food, according to strength and with exhilaration. Ayurvedic Rishi Charak

Health, Remedies
WINE THERAPYWine makes mouth to water for the person who drunk it. Drunker is considered to be a bad man in the society. People begin to hate drunker because he has no control on his senses. Is wine really bad? No, wine is not bad; it is person if over drunk is bad. In reality wine is nectar if use properly. According to Saint Charak “It is like nectar for that who drinks according to prescribed method, in proper quantity, in proper time, with wholesome food, according to strength and with exhilaration. On the contrary, it acts like poison for that who indulges in drinking unwholesome wine whatever is presented observing rough regimens and physical exertion. The great potent, destroys grief, restlessness, fear and agitation, which is the symbol of…
Read More

Various Tastes and their role

Health, Personal Care, Remedies
THERE ARE TOTAL SIX TASTES OF THE UNIVERSE. 1 SOUR 2 SWEET 3 SALT 4 PUNGENT 5 BITTER 6 ASTRINGENT. FEW ELEMENTS ARE FRIENDLY AND FEW ARE ENEMY OF EACH OTHER. AS SUCH THEY THESE TASTES DEPENDING UPON, FRIENDLY OR NON-FRIENDLY, HEAL OR INCREASE DISEASES. ASTANGA HRDAYAM CLEARLY DESCRIBES THE CHARACTERISTICS OF EACH OF THE SIX TASTES AND PROBLEMS THAT MIGHT BE EXPERIENCED FROM ITS HABITUAL OVER-CONSUMPTION. Our body is made of five elements each have its own taste, and there are total six tastes of the universe. Few elements are friendly and few are enemy of each other. As such they these tastes depending upon, friendly or non-friendly, heal or increase diseases. Astanga Hrdayam clearly describes the characteristics of each of the six tastes and problems that might be…
Read More